Monthly Archive: April 2019

0

अनुपमा तिवाड़ी की 2 कविताएं

अनुपमा तिवाड़ी ए – 108, रामनगरिया जे डी ए स्कीम,  एस के आई टी कॉलेज के पास, जगतपुरा, जयपुर 302017  मुझे बहुत कुछ हो जाना है मुझे पेड़ों से प्यार करते हुए, एक दिन पेड़ हो जाना है मुझे नदी से प्यार करते हुए, एक दिन नदी हो जाना है...

0

मोहन कुमार झा की 3 कविताएं

मोहन कुमार झा अररिया, बिहार सम्प्रति अध्ययनरत् काशी हिन्दू विश्वविद्यालय मो. 78390450071. हारे हुए लोग अच्छा होता है बेहतर चुननामगर उससे भी अच्छा होता है सबसे बेहतर चुननासिर्फ जीतने वाले नहींहारे हुए लोग भी अच्छे होते हैं। ख्वाब बगैर नींद के भी देखी जा सकती हैआदमी को बनाया जा सकता है देवताएक पल में...

0

जिंदगी से अथक जंग की कहानियाँ

शैलेंद्र शांत   पुस्तक समीक्षा यह कोलकाता के कथाकार उदयराज जी की किताब के बाबत चंद बातें हैं। कहानियों की किताब, जिसमें छोटी-बड़ी कुल 17 कहानियां दर्ज हैं। लेखक की किताब का नाम “आरंभ” है, जो किताब के मामले में आरंभ ही है, यानी पहली किताब। उम्मीद की जाए कि...

0

शालिनी मोहन की 4 कविताएं

शालिनी मोहन विभिन्न राष्ट्रीय, अन्तर्राष्ट्रीय पत्र-पत्रिकाओं में कविताएँ प्रकाशित। ‘अहसास की दहलीज़ पर’ साझा काव्य संग्रह के. जी. पब्लिकेशन द्वारा  2017 में प्रकाशित .  रश्मि प्रकाशन, लखनऊ से कविता संग्रह ‘दो एकम दो’ वर्ष 2018 में प्रकाशित.   वर्तमान पता फ्लैट नं 402 वंदना रेसिडेंसी अपार्टमेंट मनीपाल काउन्टी रोड सिंगसान्द्रा बंगलुरू(कर्नाटक)-560068  ...

0

मौजूदा समय से मुठभेड़ करती कहानियां

दिनांक 6 अप्रैल, 2019 को कथा- कहानी की गोष्ठी गांधी शांति प्रतिष्ठान, नई दिल्ली में आयोजित की गई. इस गोष्ठी में वरिष्‍ठ कथाकार रमेश उपाध्याय ने अपनी कहानी ‘काठ में कोंपल’ व रचना त्‍यागी ने अपनी कहानी ‘ काला दरिया’ का पाठ किया.  रमेश उपाध्याय की कहानी पर बोलते हए...

0

बांदा की आबोहवा में कविता का अक्स

पिछले रविवार, सात अप्रैल को राजकीय महिला डिग्री कालेज बाँदा में जनवादी लेखक मंच, बाँदा और लोकोदय प्रकाशन की ओर से समकालीन कविता पाठ और परिचर्चा का आयोजन किया गया । इस कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला अधिवक्ता संघ, बाँदा के अध्यक्ष श्री सुबीर सिंह  ने की और संचालन जनवादी लेखक...