कोलकाता में 2 दिवसीय साहित्यिक पत्रिका सम्मेलन

भारतीय भाषा परिषद ने 16-17 फरवरी को साहित्यिक पत्रिका सम्मेलन का आयोजन किया है, जिसमें देश भर से पहुंचने वाले संपादक-लेखक साहित्यिक पत्रिकाओं की दशा-दिशा, वर्तमान और भविष्य पर अपनी राय रखेंगे। भारतीय भाषा परिषद के प्रेक्षागृह में होने वाले इस दो दिवसीय सम्मेलन का उद्घाटन प्रसिद्ध हिन्दी कथाकार गिरिराज किशोर करेंगे। दो दिनों में कुल 6 सत्र में साहित्यिक पत्रिका से जुड़े अलग अलग पहलुओं पर चर्चा होगी।

अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता : देश-दुनिया का परिदृश्य, लघु पत्रिकाओं के समक्ष वर्तमान चुनौतियां, सोशल मीडिया : संभावनाएं और सीमाएं, ई साहित्यिक पत्रिकाओं की दशा और दिशा, साहित्यिक पत्रिकाओं का भविष्य, पढ़ने की संस्कृति : पाठक कहां हैं? जैसे विषयों पर इन 2 दिनों में चर्चा होगी। इस परिचर्चाओं में गिरिराज किशोर, खगेंद्र ठाकुर, विभूति नारायण राव, रमेश उपाध्याय, संजय सहाय, सदानन्द साही, किशन कालजयी, मोहनदास नैमिशराया, विजय राय, पंकज सुबीर, भारत यायावर, अरुण कमल, शंकर, हरिनारायण, रामकुमार कृषक, गौरीनाथ, प्रेम भारद्वाज जैसे विद्वजन अपने विचार रखेंगे। भारतीय भाषा परिषद और उसके निदेशक डॉ शंभुनाथ इस आयोजन के लिए साधुवाद के हकदार हैं।

You may also like...