Category: HINDI

0

पल्लवी मुखर्जी की 5 कविताएं

पल्लवी मुखर्जी शब्द मरते नहीं मेंरे भीतर की आग का थोड़ा सा हिस्सा लेकर तुमने सुलगाई जीवन की लौ बाकि बचे हुए आग की आँच को हवा देती हूँ मैं उसकी लौ पर उबलते हैं शब्द शब्दों की भाषा को पढ़ते हो तुम शब्द मिट्टी में मिलने से पहले एक...

0

जो पढ़ रहे हैं, वही कहानियों को बचा रहे हैं : शंकर

कहानी के विभिन्न पहलुओं पर वरिष्ठ कथाकार और परिकथा के संपादक शंकर से ख़ास बातचीत। बातचीत की है वरिष्ठ कथाकार हरियश राय और सत्येंद्र प्रसाद श्रीवास्तव ने सत्येंद्र : शंकर जी, आप वरिष्ठ कथाकार भी हैं और संपादक भी। तो शुरुआत इसी सवाल से करते हैं कि आखिर कहानी है...

0

राहुल कुमार बोयल की 4 कविताएं

राहुल कुमार बोयल जन्म दिनांक- 23.06.1985जन्म स्थान- जयपहाड़ी, जिला-झुन्झुनूं( राजस्थान)सम्प्रति- राजस्व विभाग में कार्मिकपुस्तक- समय की नदी पर पुल नहीं होता (कविता संग्रह)            नष्ट नहीं होगा प्रेम ( कविता संग्रह) मोबाइल नम्बर- 7726060287 ई मेल पता- rahulzia23@gmail.com1. अंगुलियों का धर्म मेरे पास तुम्हारी एक अँगूठी है इसलिए नहीं कि...

0

संजीव ठाकुर की कविता ‘प्रेमिका की याद’

संजीव ठाकुर प्रेमिका की याद  1 प्रेमिका की याद मजबूत खूँटी टाँगकर खुद को हुआ जा सकता है निश्चिंत । 2 प्रेमिका की याद शहद में डूबा तीर बार–बार खाने का मन करे । 3 प्रेमिका की याद बरसाती नदी नहीं होती प्रेमिका की याद बूँदा–बाँदी भी नहीं प्रेमिका की...

0

डॉ हंसा दीप की कहानी ‘हरा पत्ता पीला पत्ता’

डॉ. हंसा दीप मेघनगर, जिला झाबुआ, मध्यप्रदेश में जन्म। हिन्दी में पीएच.डी., यूनिवर्सिटी ऑफ टोरंटो में लेक्चरार के पद पर कार्यरत। पूर्व में यॉर्क यूनिवर्सिटी, टोरंटो में हिन्दी कोर्स डायरेक्टर एवं भारतीय विश्वविद्यालयों में सहायक प्राध्यापक। कैनेडियन विश्वविद्यालयों में हिन्दी छात्रों के लिए अंग्रेज़ी-हिन्दी में पाठ्य-पुस्तकों के कई संस्करण प्रकाशित। प्रसिद्ध...

0

कथा-कहानी की 13वीं गोष्ठी

कथा- कहानी की ओर से दिनांक 31 अगस्त 2019 को गांधी शांति प्रतिष्ठान में कहानी पाठ का आयोजन किया गया। यह गोष्ठी इस मायन में महत्वपूर्ण थी कि यह दूसरे साल की पहली गोष्ठी थी। पिछले साल कथा कहानी ने बारह गोष्ठियों का आयोजन किया जिसमें पच्‍चीस कथाकारों ने अपनी...

0

‘कविता लिखने से पहले नेक इंसान बनना ज़्यादा जरूरी’

वरिष्ठ कवि विजेंद्र से सत्येंद्र प्रसाद श्रीवास्तव की ख़ास बातचीत लिटरेचर प्वाइंट संवाद वरिष्ठ कवि विजेंद्र 84 साल की उम्र में भी पूरी सक्रिय हैं. कविता लिखते हैं, पेंटिंग बनाते हैं। फेसबुक पर भी सक्रिय हैं। हिन्दी कविता में उनका स्थान क्या है, यह नए सिरे से बताने की जरूरत...

0

धर्मपाल महेंद्र जैन की 4 कविताएं

धर्मपाल महेंद्र जैन जन्म : 1952, रानापुर,  जिला – झाबुआ (म. प्र.), भारत,  स्थायी निवास – टोरंटो, कनाडा शिक्षा : भौतिकी; हिन्दी एवं अर्थशास्त्र में स्नातकोत्तर प्रकाशन :  पाँच सौ से अधिक कविताएँ व हास्य-व्यंग्य प्रमुख पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित। “दिमाग़ वालों सावधान” एवं “सर क्यों दाँत फाड़ रहा है?” (व्यंग्य संकलन) एवं “इस समय तक” (कविता संकलन) प्रकाशित। मुझे तुम्हें वह लौटाना है   मुझे...

0

पवन कुमार मौर्य की 3 कविताएं

पवन कुमार मौर्य जन्मतिथि- 01 जून, 1993 शिक्षा– स्नातक-भूगोल (ऑनर्स) (बीएचयू, बनारस)  एमए जनसंचार-एमसीयू, भोपाल. पेशा- दिल्ली में पत्रकारिता पता –  वर्तमान – नोएडा स्थाई पता- जन्म- बनारस, अब जिला- चन्दौली गांव- मानिकपुर, पोस्ट- नौबतपुर, थाना-सैयदराजा पिन- 232110 सम्पर्क सूत्र- 9667927643 Email- mauryapavan563 @gmail.com 1-  तुम्हारे साथ हूं तुम्हारी अधूरी ख्वाहिशों...

0

माधव कौशिक की 5 ग़ज़लें

चर्चित किताब माधव कौशिक का नया ग़ज़ल संग्रह पानी में तहरीर नयी किताबगंज प्रकाशन मूल्य 195 रुपए एक सबका क़िस्सा ख़ाली हाथ सारी दुनिया  ख़ाली  हाथ इक मुद्दत से  बैठा हूं तनहा, टूटा, ख़ाली हाथ वो बेचारा  क्या देता वह भी खुद था  ख़ाली हाथ सब कुछ होते हुए भी...

0

स्त्री कथाकारों का ईमानदार मूल्यांकन

पत्रिका: लमही हमारा कथा समय विशेषांक, खंड एक प्रधान: संपादक विजय राय मूल्य: 50 रुपए पता: 3/343, विवेक खंड, गोमतीनगर, लखनऊ-226010 मोबाइल: 9454501011 सत्येंद्र प्रसाद श्रीवास्तव प्रतिष्ठित साहित्यिक पत्रिका लमही का नया अंक (अप्रैल-सितम्बर संयुक्तांक) हर उस पाठक के लिए एक दुर्लभ उपहार की तरह है, जिसकी दिलचस्पी कहानियों में...

0

सामाजिक विषमताओं पर प्रहार करती कविताएं

डॉ कृष्णकान्त द्विवेदी देश व प्रदेश की प्रतिष्ठित पत्र-पत्रिकाओं में  आलेख,कविताएँ व साक्षात्कार निरन्तर  प्रकाशित होते रहते हैं। आजकल, उत्तर प्रदेश, साहित्य अमृत जैसी प्रमुख पत्रिकाओं में   प्रकाशन।    सम्प्रति-:             सहायक प्रोफेसर    ( हिंदी) पं.सुंदरलाल मेमोरियल परास्नातक महाविद्यालय,कन्नौज   (उ प्र)     ई  मेल –  : krishnakantdubey394@ gmail. com...

0

विजय राही की 5 कविताएं

विजय राही ग्राम-पोस्ट-बिलौना कला तहसील-लालसोट जिला-दौसा(राजस्थान) पिनकोड-303503 पेशे से सरकारी शिक्षक है। कुछ कविताएँ हंस,  मधुमती, दैनिक भास्कर,  राजस्थान पत्रिका, डेली न्यूज, राष्ट्रदूत में छपी। सम्मान-दैनिक भास्कर का युवा प्रतिभा खोज प्रोत्साहन पुरस्कार -2018 क़लमकार मंच का राष्ट्रीय कविता पुरस्कार(द्वितीय)-2019 मो.नं.-9929475744 Email-vjbilona532@gmail.com रोना   बड़े-बुजुर्ग कहते हैं मर्द का रोना...

0

शम्भु बादल को जनकवि केदार सम्मान

22 जून को बाबू केदारनाथ अग्रवाल के निर्वाण दिवस के अवसर पर बांदा में आयोजित एक समारोह में कवि शंभू बादल को  “जनकवि केदारनाथ अग्रवाल सम्मान” से नवाजा गया। यह आयोजन जनवादी लेखक मंच द्वारा डीएवी कालेज के हाल में संपन्न हुआ। जैसा कि विदित है जनवादी लेखक मंच की...

0

हमारा हर शब्द हमारी पक्षधरता बतलाता है : पंकज बिष्ट

पंकज बिष्ट को दूसरा राजकमल चौधरी स्मृति सम्मान मेघ पांडे “यह पुरस्कार मुझे अपने लिए मिले पुरस्कारों में सबसे बड़ा लगा है क्योंकि यह एक लेखक की जीवन भर की कमाई के पैसे से प्रारंभ किया गया है। लगा जैसे नोबेल प्राइज मिल गया हो। हमारी अम्मा कहा करती थीं-...

0

राहुल कुमार बोयल की 10 कविताएं

राहुल कुमार बोयल जन्म – 23.06.1985जन्म स्थान- जयपहाड़ी, जिला-झुन्झुनूं( राजस्थान)सम्प्रति- राजस्व विभाग में कार्मिक पुस्तक- समय की नदी पर पुल नहीं होता (कविता संग्रह) मोबाइल नम्बर- 7726060287 ई मेल पता- rahulzia23@gmail.com   1. मैं जानता हूँ____________ मैं उस किसान को जानता हूँ जिसके खेत में इतनी कपास होती हैकि रेशे से उसके फांसी का फंदा...

0

अपने समय को रेखांकित करती कहानियां : कथा कहानी की 11वीं गोष्ठी

हरियश राय की रिपोर्ट दिनांक 15 जून, 2019 को गांधी शांति प्रतिष्ठान में कथा – कहानी की ओर से एक कथा गोष्ठी का आयोजन किया गया . गोष्ठी की शुरुआत में कथा कहानी के संयोजक हरियश राय ने सभी का स्वागत करते हुए कहा कि कथा कहानी का मकसद हमारे...

0

पल्लवी मुखर्जी की 8 कविताएं

पल्लवी मुखर्जी पृथ्वी          जब भी बादल घुमड़ते हैं पैर टिकता नहीं है घर पर घूरते घर को छोड़कर निकल पड़ती हूँ और चलती जाती हूँ सड़क पर टिप-टिप बूंदों के साथ कुछ बूंदें हथेली से उछाल देती हूँ जैसे बादल को लौटा रही हूँ उसका प्रेम...

0

शिक्षा की दशा और दिशा पर केंद्रित जरूरी अंक

चर्चित पत्रिका कथन संपादक संज्ञा उपाध्याय सहयोग राशि 100 रुपए पता 107, साक्षरा अपार्टमेंट, ए-3, पश्चिम विहार, नई दिल्ली 110063 फोन –011 25268341 सत्येंद्र प्रसाद श्रीवास्तव अच्छी शिक्षा और बेहतर इलाज—ये 2 ऐसी चीजें हैं, जो इस देश के गरीब और निम्नमध्य वर्ग की पहुंच से बाहर निकल चुकी हैं।...

0

ग़ज़ल का क़द मनुष्यता से तो ऊँचा नहीं

ओम निश्चल हिंदी के सुपरिचित कवि, गीतकार एवं आलोचक। ‘शब्‍द सक्रिय हैं'(कविता संग्रह) एवं ‘शब्‍दों से गपशप'(आलोचना),  ‘भाषा की खादी'(निबंध) सहित भाषा व आलोचना-समीक्षा की अनेक कृतियां प्रकाशित। अज्ञेय सहित कई कवियों के कविता-चयन, अधुनांतिक बांग्ला कविता एवं कुंवर नारायण पर केंद्रित आलोचनात्‍मक पुस्‍तक ‘अन्‍वय’ एवं ‘अन्‍विति’ का संपादन। उत्तर...