राजेश ‘ललित’ शर्मा की तीन कविताएं

You may also like...

3 Responses

  1. vinod says:

    ललित शर्मा की कविता मौन ने प्रभावितकिया है शब्दविन्यास बहुत उम्दा है

  2. vinod says:

    कविता ठूठ बेहतेरकविता है

  3. deepesh sharma says:

    बेमिसाल कवि हैं राजेश ललित शर्मा।मौन मौन आधुनिक काल की उत्कृष्ट कविता मानता हूँ ———–दीपेश

Leave a Reply