सबका शायर : अमेजन पर उपलब्ध

हैं निगह में, पहाड़ के मंज़र
और उस पर, उजाड़ के मंज़र

ज़िंदगी सिल रही है, फट -फट के
कैसे – कैसे, जुगाड़ के मंज़र

नूर मुहम्मद नूर के ग़ज़ल संग्रह सबका शायर ्अमेजन पर उपलब्ध।

https://www.amazon.in/SABKA-SHAYAR/dp/8193688309/ref=sr_1_1?ie=UTF8&qid=1542697401&sr=8-1&keywords=SABKA+SHAYAR+BOOK

Leave a Reply