शहंशाह आलम की चार कविताएं

You may also like...

3 Responses

  1. सुषमा सिन्हा says:

    बेहतरीन कविताएँ !!

  2. रमेश प्रजापति says:

    मैं हमेशा से ही शहंशाह आलम की कविताओं का प्रसंसक रहा हूँ। आप उनकी ताज़ातरीन बेहतरीन कविताओ से रूबरू कराया धन्यवाद। भाई शहंशाह आलम को बधाई

  3. Parmod singh says:

    Bahut uttam poems hai
    bahut kuch vaikt karti

Leave a Reply