राज्यवर्द्धन की चार कविताएं

पक्ष जो लेखक,कलाकार,वैज्ञानिक,अधिकारी उद्योगपति एवं बुद्धिजीवी हिन्दू हैं और हमारे पक्ष में नहीं हैं वे कम्युनिस्ट हैं या फिर दरबारी