Monthly Archive: August 2019

0

धर्मपाल महेंद्र जैन की 4 कविताएं

धर्मपाल महेंद्र जैन जन्म : 1952, रानापुर,  जिला – झाबुआ (म. प्र.), भारत,  स्थायी निवास – टोरंटो, कनाडा शिक्षा : भौतिकी; हिन्दी एवं अर्थशास्त्र में स्नातकोत्तर प्रकाशन :  पाँच सौ से अधिक कविताएँ व हास्य-व्यंग्य प्रमुख पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित। “दिमाग़ वालों सावधान” एवं “सर क्यों दाँत फाड़ रहा है?” (व्यंग्य संकलन) एवं “इस समय तक” (कविता संकलन) प्रकाशित। मुझे तुम्हें वह लौटाना है   मुझे...

0

पवन कुमार मौर्य की 3 कविताएं

पवन कुमार मौर्य जन्मतिथि- 01 जून, 1993 शिक्षा– स्नातक-भूगोल (ऑनर्स) (बीएचयू, बनारस)  एमए जनसंचार-एमसीयू, भोपाल. पेशा- दिल्ली में पत्रकारिता पता –  वर्तमान – नोएडा स्थाई पता- जन्म- बनारस, अब जिला- चन्दौली गांव- मानिकपुर, पोस्ट- नौबतपुर, थाना-सैयदराजा पिन- 232110 सम्पर्क सूत्र- 9667927643 Email- mauryapavan563 @gmail.com 1-  तुम्हारे साथ हूं तुम्हारी अधूरी ख्वाहिशों...

0

माधव कौशिक की 5 ग़ज़लें

चर्चित किताब माधव कौशिक का नया ग़ज़ल संग्रह पानी में तहरीर नयी किताबगंज प्रकाशन मूल्य 195 रुपए एक सबका क़िस्सा ख़ाली हाथ सारी दुनिया  ख़ाली  हाथ इक मुद्दत से  बैठा हूं तनहा, टूटा, ख़ाली हाथ वो बेचारा  क्या देता वह भी खुद था  ख़ाली हाथ सब कुछ होते हुए भी...

0

स्त्री कथाकारों का ईमानदार मूल्यांकन

पत्रिका: लमही हमारा कथा समय विशेषांक, खंड एक प्रधान: संपादक विजय राय मूल्य: 50 रुपए पता: 3/343, विवेक खंड, गोमतीनगर, लखनऊ-226010 मोबाइल: 9454501011 सत्येंद्र प्रसाद श्रीवास्तव प्रतिष्ठित साहित्यिक पत्रिका लमही का नया अंक (अप्रैल-सितम्बर संयुक्तांक) हर उस पाठक के लिए एक दुर्लभ उपहार की तरह है, जिसकी दिलचस्पी कहानियों में...