विजय सिंह को जनकवि केदारनाथ अग्रवाल सम्मान 2020

केन के कवि केदारनाथ अग्रवाल की पुण्यतिथि 22 जून 2020 को जनवादी लेखक मंच एवं मुक्तिचक्र पत्रिका के तत्वाधान में छत्तीसगढ़ जगदलपुर के रहवासी जाने माने रंगकर्मी एवं कवि विजय सिंह को वर्ष 2020 का जनकवि केदारनाथ अग्रवाल सम्मान दिया जायेगा यह निर्णय “मुक्तिचक्र केदार सम्मान कमेटी बाँदा” ने लिया है। पुरस्कार चयन कमेटी के सचिव प्रद्युम्न कुमार सिंह ने इस निर्णय से विजय सिंह जी को अवगत करा दिया है। इस चयन कमेटी में मुक्तिचक्र संपादक गोपाल गोयल , रामावतार साहू ,जवाहर लाल जलज ,नारायण दास गुप्त , कालीचरण सिंह,अरुण खरे ( सभी बाँदा के है ) । विजय सिंह छत्तीसढ़ के जाने माने व्यक्तित्व हैं । सूत्र संस्था और सूत्र सम्मान और सूत्र पत्रिका तीनों का संचालन व्यवस्थापन विजय सिंह ही करते हैं रंगकर्म के प्रति उनका समर्पण और लगाव गहरा है यही कारण है उनके परिवार के सभी सदस्य भी उनके साथ रंगकर्म अभिनय और तथा लोक कलाओं के सरंक्षण अभियान में जुडे हैं । अपने एक्टिविज्म और लोक धर्मिता के प्रति समर्पण के कारण उन्होने जगदलपुर में नये लेखकों और रंगकर्मियों की पीढी तैयार की है। विजय सिंह लोकधर्मी कवि हैं वरिष्ठ कवि विजेन्द्र को अपना काव्यगुरु मानते हैं छत्तीगढ की कला संस्कृति और वहाँ की प्रकृति तथा आबोहवा का वास्तविक यथार्थ उनकी कविताओं में मौजूद है ।उनका एकमात्र कविता संग्रह “बन्द टाकीज” अपने समय का चर्चित कविता संग्रह है । विजय सिंह भी विजेन्द्र की तरह पिछले तीन दशक से लोक अस्मिता की बात करते हैं ।यही कारण है कविता में काबिज कुलीनतन्त्र सबसे ज्यादा विजय सिंह पर आक्रामक रहा । मगर वगैर विचलित हुए हमलों के प्रति बेपरवाह रह विजय अपने पथ पर बढते रहे । और आज भी उसी लगन से अपने काम में लगे हैं । उनके साहित्यिक अवदानों के लिए उन्हे यह सम्मान 22 जून2020 को बांदा में प्रदान किया जायेगा। और इस अवसर पर विजय सिंह का एकल कविता पाठ होगा तथा उनके संघर्षों रचनात्मक अवदानोंं पर परिचर्चा की जायेगी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.